KESHAV & SHARMA JI : DIVORCE

Please Share :

Dr. G.Singh

केशव : अरे क्या हुआ शर्मा जी बहुत दुखी दिखाई दे रहे हैं |
शर्मा : क्या बताऊँ केशव जी कलयुग आ गया बस |
केशव : ऐसा क्या हो गया
शर्मा : अपने रामधन की बिटिया की पिछले साल शादी हुई थी उसका कल तलाक हो गया |
केशव : बढ़िया
शर्मा : बढ़िया आप शायद मजाक कर रहे हैं
केशव : नहीं शर्मा जी मेरे विचार से बढ़िया हुआ पति पत्नी की नहीं बन पायी आराम से अलग हो गए
शर्मा : अरे पर शादी ऐसे ही थोड़े टूट सकती है | शादी जन्मों का बंधन है

केशव : चलिए आप बात ही मान जी की शाद्दी जन्मों का बंधन है | पर अब होगा क्या
शर्मा : होगा क्या रामधन अपनी लड़की के लिए कोई और लड़का तलाश करेगा
केशव : मतलब सायद 1 या 2 साल मैं लड़की का घर बस जायेगा
शर्मा : हाँ शायद
केशव : मतलब कोई बहुत बड़ा तूफान तो नहीं आ गया
शर्मा : कहना क्या कहते हैं आप केशव जी
केशव : चलिए आपकी बात को विस्तार से समझते हैं आइये मेरे साथ

शर्मा : कहाँ
केशव : रोशन के घर  और आप कुछ बोलेंगे नहीं बस चुप रह कर सुनिए
शर्मा  : ठीक है

रोशन के घर पर

रोशन : आइये केशव जी बहुत दिनों बाद दर्शन दिए
रोशन : अरे शर्मा जी आप भी साथ है आज तो घर के भाग्य जग गए
केशव : रोशन जी आज तो चाय पीने आये है
रोशन : कैसी बात कर दी केशव जी | चाय तो आएगी ही

चाय का आदेश देने के बाद

केशव : और रोशन जी आप कैसे है और बिटिया कैसी है
रोशन  : केशव जी आपसे क्या छुपाना | आप तो सब जानते ही है
केशव : कुछ आगे बात बढ़ी
रोशन : 15 साल हो गए | सब कुछ कर के देख लिया पर मुरारी (बिटिया का पति) बिटिया को ले जाने के लिए ही तैयार नहीं हो रहा
केशव : क्या क्या कर के देख लिया
रोशन : आपको तो सब मालूम ही है |
रोशन : समझा कर भी देखा |
रोशन : दहेज़ का केस भी कर के देख लिया |
रोशन : लड़के को जेल भी भिजवाया |
रोशन : लड़के का लाखों रुपया भी लगवा दिया पर फिर भी तैयार नहीं घर बसने के लिए
रोशन : अब तो समझ ही नहीं आ रहा और क्या करें
केशव : तलाक क्यों नहीं ले लेते
रोशन : अब लड़की की उम्र 40 पार कर गयी अब तलाक लेकर क्या करेगी |
केशव : 15 साल पहले ही तलाक ले लिया होता तो सायद बढ़िया रहता ना
रोशन : उस वक़्त यह कहाँ सोचा था | और फिर बिटिया भी राजी कहाँ थी
केशव : ठीक आप अगर कहें तो मैं बिटिया से कुछ बात करूँ |
रोशन : हा हा क्यों नहीं

रोशन के जाने के बाद

केशव : हा तो बिटिया तुम्हारा डाइवोर्स का केस कहाँ तक पहुंचा
बिटिया : अभी फॅमिली कोर्ट से फैंसला आने वाला है
केशव : तलाक का केस तुम्हारे हस्बैंड ने लगाया था न
बिटिया : जी हाँ
केशव : क्या लगता है डाइवोर्स मिल जायेगा तुम्हारे पति को
बिटिया : जी है लगता तो है मिल जायेगा
केशव : तो उसके बाद तुम्हारा क्या प्लान है
बिटिया : हाई कोर्ट और उसके बाद सुप्रीम कोर्ट मैं भी अपील करना है
केशव : क्या लगता है सुप्रीम कोर्ट से रिजल्ट कब तक आएगा
बिटिया : सायद १० से २० साल लग जायेंगे
केशव : उस वक़्त तुम्हारी उम्र कितनी होगी
बिटिया : मतलब
केशव : चलो छोडो यह बताओ अगर सुप्रीम कोर्ट ने भी तलाक दे दिया तो
बिटिया : तब तक उसकी उम्र ६० से ऊपर हो चुकी होगी
केशव : और तुम्हारी कितनी होगी
बिटिया : … …
केशव : चलो छोडो और यह बताओ इस सबमे तुम्हे क्या मिलेगा
बिटिया : शायद कुछ नहीं
केशव : अब यह बताओ की तुम यह सब क्यों करना चाहती हो
बिटिया : उसने मेरी लाइफ बर्बाद कर दी मैं उसे छोडूंगी नहीं
केशव : उसने तुम्हारी लाइफ कैसे बर्बाद कर दी
बिटिया : तलाक कोई छोटी बात है क्या
केशव : यह तो पर्सनल मामला है ना
बिटिया : क्या मतलब
केशव : मेरे लिए तलाक कोई बहुत बड़ा मामला नहीं है | और सायद तुम्हारे पति के लिए भी नहीं
बिटिया : पर मेरे लिए है
केशव : बिलकुल सही कहा तुमने | मैं बस यही सुनना चाहता था
बिटिया : जरा खुल कर बताइये
केशव : देखो तलाक को तुमने अपने लिए समस्या बनाया हुआ है | और यह तुम्हारा पर्सनल मामला है | अगर मैं गलत नहीं हूँ तो यह विचार तुम्हे तुम्हारे माता पिता से ही मिले हैं | पर इस सब की सजा तुम्हारे पति और उसके परिवार को मिली |
बिटिया : … …  …
केशव : देखिये शर्मा जी झगड़ा इस बात का नहीं कौन गलत है |  झगड़ा सिर्फ इस बात का है की बिटिया तलाक को अपने जीवन का अंत मान कर बैठ गयी है
शर्मा : अगर ऐसा नहीं होता तो क्या होता
केशव : तो आज से १५ साल पहले ही दोनों शांति से अलग हो जाते और अपना अपना घर बसा चुके होते | अब उसका पूरा परिवार सजा काट रहा है सिर्फ इस लिए क्योंकि रोशन ने बिटिया को सिखाया की तलाक मतलब एन्ड ऑफ़ लाइफ
शर्मा : तो हमे क्या करना चाहिए
केशव : अपने बच्चों को यह सिखाओ की डाइवोर्स लाइफ का अंत नहीं है | बल्कि अगर शादी नहीं चल पा रही तो अलग हो कर अपनी लाइफ शांति से गुजारें
शर्मा : ठीक कहा आपने | अब  मदद कैसे की जा सकती है | क्या हम मुरारी से मुलाकात करें
केशव : नहीं शर्मा जी उससे कोई फायदा नहीं होगा
शर्मा : क्यों भला
केशव : क्योंकि उसने जो नरक भुगतना था भुगत लिया | अब उसके दिल मैं सिवाए बदले की भावना के कुछ नहीं होगा | और हम इस बारे मैं कुछ नहीं कर पाएंगे
शर्मा : फिर भी कोशिश तो करनी ही चाहिए
केशव : तो कोशिश बिटिया पर कीजिये इसे समझाइये की तलाक से जीवन का अंत नहीं हो रहा |
शर्मा : ठीक
केशव : आईये चले हम लोग

वापिस लोट कर

केशव : हां तो शर्मा जी क्या समझ  मैं आया आपके
शर्मा : सिर्फ इतना की रोशन ने अपनी बिटिया को सिखाया की तलाक के बाद ज़िंदगी नरक हो जाती है | और उसकी बिटिया ने अपने पति की ज़िंदगी नरक बना दी साथ मैं अपनी भी बना ली |
शर्मा : पर केशव जी इलाज क्या है
केशव : क्या हम अपने बच्चों को आत्मनिर्भर नहीं बना सकते उनको सिखाएं की तलाक को TABOO नहीं है |
शर्मा : पर इसका मतलब यह तो नहीं की छोटी छोटी बातों पर अलग हो जाएँ
केशव : मामला छोटी या बड़ी बात का नहीं | मामला सिर्फ इतना है की 2 लोग साथ निभा सकते हैं या नहीं
शर्मा : तो रोशन के मामले मैं कुछ कर सकते हैं हम लोग
केशव : नहीं अगर मैं गलत नहीं तो बिटिया सिर्फ बदला लेना चाहती है अपने पति से उस जुर्म का जो उसके माँ बाप ने किया
शर्मा : आप कह रहे हैं की उसके पति ने कोई जुर्म नहीं किया
केशव : बिलकुल आप बताइये बिटिया के दिमाग मैं यह बात कैसे आई की तलाक के बाद सब ख़तम
शर्मा : रोशन ने सिखाया
केशव : मुरारी को उसके माँ बाप ने आने वाले कल के लिए तैयार किया रोशन ने अपनी बिटिया को नहीं किया अब मुजरिम कौन हुआ
शर्मा : इस तरह से देखा जाये तो रोशन ही हुआ
केशव : और सजा किसे मिली
शर्मा : मुरारी को
केशव : तो क्या अब वह बदला नहीं लेगा
शर्मा : शायद  लेगा
केशव : तो क्या हम लोग कुछ कर पाएंगे
शर्मा : सायद नहीं
केशव : तो क्यों न हम अपना वक़्त बर्बाद न करते हुए अपने अपने बच्चों को आने वाले कल के लिए  तैयार  करें
शर्मा : फिर भी कुछ तो करना चाहिए
केशव : जरूर करिये मैं रोक थोड़े ही रहा हूँ
शर्मा : तो कोई राय दीजिये ना
केशव : चलिए सामने जूस सेण्टर पर जूस लेते है बाकि फिर कभी देखेंगे
शर्मा : ठीक

 

 

Translated by Deepak Mittal

Keshav : Hey, what happened Sharma ji, you are looking very sad?

Sharma : Mr. Keshav, it’s really a bad era.. What can I say?

Keshav : Oh, What has happened?

Sharma : Mr. Ramdhan’s daughter who married last year, got divorced now.

Keshav : It’s good!

Sharma : Good? Are you kidding??

Keshav : No Sharma ji, I am not kidding. If husband & wife could not adjust themselves in life its better they get separate out comfortably.

Sharma : Hey, but marriage cannot be dissolve like this. Marriage is a bond of births.

Keshav : Ok, let’s take your words that marriage is a bond of births. Now what will happen?

Sharma: Ramdhan will search for a new boy for her Re-marriage.

Keshav : Means within 1-2 years she will be settled again.

Sharma : Yes, may be!

Keshav : Means it’s not a big thing, Right?

Sharma : What do you want to say Mr. Keshav ?

Keshav : Let’s come with me. I will explain you in detail.

Sharma: Where?

Keshav : To Mr. Roshan’s home. You will be quiet & will listen only, ok?

Sharma : Ok

AT ROSHAN’S HOME

Roshan: Welcome, Mr. Keshav . It’s very long time to see you.

Roshan : Oh, Mr. Sharma , you are also along. It’s really good both of you have come to my house.

Keshav : Mr. Roshan, today we have come to have a tea with you.

Roshan: Yes , definitely.

AFTER ORDERING TEA

Keshav : Mr. Roshan, how are you & your daughter (Rani)?

Roshan : What would I say Mr. Keshav. You know all about. Nothing has been hidden from you.

Keshav : Is there any progress in matter?

Roshan : It’s been 15 years now. We had tried everything. Murari is not ready to take her back.

Keshav : What all have you tried?

Roshan: You know all about.

Roshan : We have tried to convince him.

Roshan : Filed dowry case against him too.

Roshan : We have thrown him in Jail too.

Roshan : Murari’s lacs of Rupees has been spent in all these. But then also he is not ready to take her back.

Roshan : Now I don’t know what should we do next?

Keshav : Why don’t take the Divorce?

Roshan : Now girl is above 40 years. What will she do by taking divorce now?

Keshav : 15 yrs before if would have taken, must have been better, right?

Roshan : At that time we never thought of. And Rani was also not agreeing for it.

Keshav : If you permit, can I talk to Rani for a while?

Roshan : Yes, why not.

AFTER ROSHAN LEFT

Keshav: Yes, Rani. Where did you divorce case has reached up till now?

Rani: Order has yet to come from family court.

Keshav : Divorce has been filed by your husband, right ?

Rani : Yes

Keshav : Will he be able to get divorce, any guess?

Rani : Yes , I guess he will be able to get divorce.

Keshav : After that what’s your plan?

Rani : I will appeal in High court & then in Supreme court.

Keshav : What you feel, how many years will take to get results from Supreme court?

Rani : May be another  10-20 years.

Keshav : What will be your age at that time?

Rani : Means?

Keshav : Leave it, if supreme court also grants divorce, then?

Rani : At that time , he will be above 60 years.

Keshav : & what will be yours age???

Rani: !!!!

Keshav : Let’s leave it. What will you get from all these?

Rani : Perhaps, nothing.

Keshav: Then why are you doing all this?

Rani: He has ruined my life. I will not let him go. I will take revenge.

Keshav : How did he ruined your life?

Rani : Is Divorce is a small matter?

Keshav : It’s a personal matter, is not it ?.

Rani : What do you mean?

Keshav: For me Divorce is not a big thing. Perhaps for your husband too.

Rani : But for me it’s a big thing.

Keshav : You are absolutely right. I wanted to listen that only.

Rani : Please explain in detail.

Keshav : Listen please, you have made divorce , as a problem for yourself. It’s your personal matter. If I am right, these ideas are from your family. But your husband & His family got all the punishment because of all this.

Rani : !!!!

Keshav : See, Mr. Sharma. It’s not that Divorce is wrong thing. It’s that Rani has considered it as the end of her life.

Sharma : If it was not there, then what would have happened?

Keshav : Then 15 years back they both would have been separated out and would have been settled in their new lives. But now his whole family is getting punishment for this because Roshan has taught Rani that Divorce is the end of life.

Sharma : Then what should we do?

Keshav : We should teach our children that Divorce is not an end of life. If marriage life is not running fine, then get separate out & live a peaceful life.

Sharma : Yes, you are right. How can we help now? Should we meet to Murari?

Keshav : No, there won’t be any benefit out of this?

Sharma : Why not?

Keshav : All the hell he has to be through he had been now. Now he is only looking for revenge. And we will not be able to do anything about this.

Sharma : OK.

Keshav: Lets we will move now.

AFTER RETURNING BACK

Keshav : Yes Sharma Ji, What did you understand now?

Sharma : That Roshan has taught his daughter that after Divorce life will be hell. Therefore his daughter made her husband’s and her own life hell.

Sharma : But, Mr. Keshav, what is the solution of all these?

Keshav : We should tell our children that divorce is not a Taboo. We should make them independent.

Sharma : Its does not mean we should get separated ourselves from marriage for some tiny issues.

Keshav : It’s not about the small or big issues. The matter is about whether 2 people can happily stay together for life time or not.

Sharma : Can we do something in Roshan’s case?

Keshav : No. If I am not wrong, we know that Rani want to take revenge of her husband for the act has been done by her parents.

Sharma : Are you saying her husband has no faults?

Keshav : You tell, how did this point come into the mind of Rani that Divorce is end of life.

Sharma : Roshan has taught her.

Keshav : Murari’s parents have taught him to be ready for future but Roshan did not teach his daughter. Then who is guilty?

Sharma : If we look by this way, then it’s Roshan who is guilty.

Keshav : And who got all the punishments?

Sharma : Murari.

Keshav : Will he not take any revenge?

Sharma : Probably, he will.

Keshav : Can we do something now?

Sharma : Probably not.

Keshav : Then we should prepare our children to ready for tomorrow without wasting any time.

Sharma : Still We should do something.

Keshav : Yes, please do something. I am not stopping you.

Keshav: Let’s go to juice center & have juice. Rest we will talk later.

Sharma: OK.

 

DAMAN WELFARE SOCIETY

www.daman4men.in

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*